History of Java

Java का विकास Sun Microsystems के एक Developer James Gosling ने किया था। उन्हें इसका विकास करने की जरूरत इसलिए पडी क्योंकि वे “C++” Language का प्रयोग करके एक Project बना रहे थे लेकिन उन्हें वह परिणाम प्राप्त नहीं हो पा रहा था जो वे चाहते थे। इसलिए उन्होंने स्वयं एक Language Develop की जिससे उनकी Requirement पूरी हो सके। इसी Language का नाम “Java” है। हालांकि जावा का विकास जिस काम के लिए किया जा रहा था, उस काम के लिए जावा उपयोगी नहीं बन पाया। लेकिन जब जावा के Developers ने देखा कि इस Language का प्रयोग Internet की Interactive Programming में काफी उपयोगी साबित हो सकता है, तब उन्होंने इस Language को Internet के लिए Develop करना शुरू किया। वे जिस Platform Independent Equipment Technology पर काम कर रहे थे, वह तकनीक Internet के लिए उपयोगी साबित हो गई।

जावा प्रोजेक्ट की शुरुवात जेम्स गोसलिंग, माइक शेरिडन एवं पैट्रिक नौघटन के द्वारा 1991 में  सन माइक्रोसिस्टम में हुई थी । जावा का सबसे पहला नाम ओक रखा गया था जो गोसलिंग के ऑफिस के बाहर ओक के पेड़ से प्रभावित होकर रखा गया था, इसके पश्यात इसका नाम ग्रीन पड़ा और कुछ दिन बाद बदल कर जावा रख दिया गया । जावा नाम जावा कॉफ़ी से लिया गया है । कॉफ़ी सभी प्रोग्रामर की पहली पसंद होती है और इसीलिए जावा का  नाम कॉफ़ी पर रख दिया गया । जावा का पहला संस्करण 1.0 1995 में बाज़ार में आया।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*